वजन कम करने और फैट को कम करने के बीच अंतर होता है, लेकिन अक्सर हम इन दोनों शब्दों को लेकर कंफ्यूज रहते हैं. अधिकतर लोग इन दोनों का मतलब एक ही समझते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है. वजन कम करने का अर्थ शरीर के कुल वजन में मांसपेशियों, फैट और पानी को कम करना होता है. वहीं, फैट कम करने का मतलब शरीर के अतिरिक्त फैट यानी चर्बी को कम करना होता है.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि वजन कम करने और फैट कम करने के बीच क्या अंतर है -

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए क्या खाएं)

  1. वजन घटना व फैट कम करना कैसे अलग है?
  2. वजन घटाने पर नहीं, फैट कम करने पर दें ध्यान
  3. शरीर का फैट कम कैसे करें?
  4. सारांश
वजन कम करने और फैट कम करने के बीच अंतर के डॉक्टर

जब कोई व्यक्ति वजन कम करता है, तो वह न सिर्फ अपने शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम करता है, बल्कि शरीर में मौजूद पानी और मांसपेशियों का वजन भी कम करने की कोशिश करता है. वहीं, फैट कम करने के दौरान सिर्फ शरीर का अतिरिक्त फैट कम करने पर फोकस किया जाता है.

सामान्य तौर पर किसी व्यक्ति के शरीर में वॉटर शरीर के कुल वजन का लगभग 50-60% हो सकता है. वॉटर वेट का मतलब शरीर में मौजूद अतिरिक्त पानी से होता है, लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि कम पानी पीने से शरीर का वजन कम होता है, बल्कि पर्याप्त रूप से पानी पीने से वजन को कंट्रोल किया जा सकता है. इतना ही नहीं, पानी ब्लड सर्कुलेशन के जरिए शरीर में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन को फैलाने में मददगार करता है और मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है.

यहां वॉटर वेट कम करने से मतलब यह है कि आहार में सोडियम का सेवन कम करना चाहिए. अधिक सोडियम लेने से शरीर में पानी अधिक मात्रा में इकट्ठा हो सकता है, जिससे वजन भी बढ़ सकता है.

(और पढ़ें - वजन घटाने वाले फल व सब्जियां)

वजन कम करने वाले व्यक्तियों को इस बात पर ध्यान देने की जरूरत होती है कि वजन कम करने के साथ-साथ शरीर में मांसपेशियों और पानी को हानि पहुंच सकती है. ऐसे में ओवरऑल वजन घटाना स्वास्थ्य के लिए सही नहीं हो सकता है.

मसल्स लॉस करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है. मांसपेशियों को हेल्दी बनाए रखने से कई लाभ होते हैं. इससे ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है, शरीर में फैट का स्तर कंट्रोल होता है व ब्लड शुगर और सूजन को कम किया जा सकता है.

इसके अलावा, व्यक्ति की मांसपेशियां मजबूत होती हैं, उनके शरीर में कैलोरी उतनी ही तेजी से बर्न होती हैं. यही वजह है कि पुरुषों को महिलाओं की तुलना में अधिक कैलोरी की आवश्यकता होती है. ऐसे में साफ है कि वजन कम करने के दौरान मांसपेशियों को कम करने से बेहतर है कि शरीर में मौजूद अतिरिक्त फैट को कम किया जाए.

(और पढ़ें - महिलाओं के लिए वजन कम करने का डाइट चार्ट)

मांसपेशियों को बनाए रखने के साथ फैट को कम करने के कुछ आसान और सरल तरीके मौजूद हैं. इसके लिए भरपूर मात्रा में प्रोटीन लें, नियमित रूप से एक्सरसाइज करें और पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें -

प्रोटीन का सेवन

अगर आप मांसपेशियों की मजबूती चाहते हैं, साथ ही फैट को कम करने का सोच रहे हैं, तो इस स्थिति में प्रोटीन युक्त आहार का अधिक से अधिक सेवन करें. प्रोटीन युक्त आहार लेने से मांसपेशियों का विकास अच्छे से होता है. साथ ही इससे शरीर की अतिरिक्त चर्बी भी कम होती है.

(और पढ़ें - महिलाओं का मोटापा कम करने के उपाय)

रोजाना एक्सरसाइज

नियमित रूप से व्यायाम करना मांसपेशियों को नुकसान पहुंचाए बिना फैट को कम करने का बेहतर और प्रभावी तरीका हो सकता है. अध्ययनों में इस बात की पुष्टि की जा चुकी है कि शरीर की अतिरिक्त चर्बी और कैलोरी को कम करने में एक्सरसाइज प्रभावी हो सकती है. इसके लिए सप्ताह में कम से कम 3 बार कार्डियो जरूर करें. कार्डियो करने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं, साथ ही फैट भी कम होता है.

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए लहसुन)

कम कैलोरी वाला आहार

शरीर का अतिरिक्त फैट कम करने के लिए कम कैलोरी वाले आहार का चुनाव करें. अधिक कैलोरी युक्त आहार का सेवन करने से अतिरिक्त चर्बी बढ़ती है. इसके लिए अपने आहार में अधिक से अधिक फलसब्जियांसाबुत अनाज, लीन प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ, लो फैट डेयरी प्रोडक्ट्स और कम चीनी को आहार में शामिल करें. इससे मांसपेशियों का विकास बेहतर होगा. साथ ही यह शरीर की अतिरिक्त चर्बी को घटाने में मददगार हो सकता है.

(और पढ़ें - वजन कम करने के आयुर्वेदिक उपाय)

फैट को कम करने का एक और बेहतरीन तरीका Myupchar Ayurveda Medarodh है, जिसे आप अभी नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके खरीद सकते हैं -

वजन कम करना और फैट कम करने के बीच बड़ा अंतर होता है. हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो वजन कम करने की तुलना में फैट कम करना अधिक प्रभावी माना जाता है, क्योंकि वजन कम करने से शरीर में मांसपेशियों और पानी की हानि होती है. ऐसे में एक्सपर्ट्स फैट कम करने की सलाह देते हैं. ऐसे में अगर कोई बढ़ते वजन से परेशान हैं, तो एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए.

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए बायोटिन के फायदे)

Dr. Ravinder Jit Singh

Dr. Ravinder Jit Singh

सामान्य चिकित्सा
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Keyur Maganbhai Patel

Dr. Keyur Maganbhai Patel

सामान्य चिकित्सा
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Shrishti Kumar

Dr. Shrishti Kumar

सामान्य चिकित्सा
3 वर्षों का अनुभव

Dr.Nikhil Patil

Dr.Nikhil Patil

सामान्य चिकित्सा
4 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें