विडंगारिष्ट एक आयुर्वेदिक दवा है. आयुर्वेद में इस दवा का इस्तेमाल आंतों के कीड़ों को मारने के लिए किया जाता है. इसमें मुख्य घटक विडंग होता है, इसलिए इसे विडंगारिष्ट कहा जाता है. इसका अन्य नाम विडंगासव भी है. विडंगारिष्ट में आंवला, पिप्पली, विदंगा, इलायची, तेज पत्ता, त्रिकटु, कचनार और लोधरा आदि जड़ी-बूटियां शामिल होती हैं. विडंगारिष्ट दवा कब्ज और दर्द से राहत दिला सकती है. शारीरिक समस्याओं को दूर करने के लिए विडंगारिष्ट का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर किया जा सकता है.

आज इस लेख में आप विडंगारिष्ट दवा के फायदों और नुकसान के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - छोटी दूधी के फायदे)

  1. विडंगारिष्ट के फायदे
  2. विडंगारिष्ट के नुकसान
  3. सारांश
विडंगारिष्ट के फायदे व नुकसान के डॉक्टर

आयुर्वेद में विडंगारिष्ट औषधि का उपयोग कई तरह के रोगों का इलाज करने के लिए किया जाता है. मुख्य रूप से विडंगारिष्ट दवा आंतों के कीड़ों का इलाज करती है. इसमें मौजूद तत्व पाचन को बेहतर बनाते हैं और दर्द को कम करने में भी मदद करते हैं. विडंगारिष्ट दवा के फायदे इस प्रकार हैं -

आंतों के कीड़े मारे

अगर किसी व्यक्ति के आंत या पेट में कीड़े हैं, तो विडंगारिष्ट औषधि फायदेमंद हो सकती है. यह दवा आंतों के कीड़ों को मारने के लिए उपयोगी साबित हो सकती है. पेट या आंतों में कीड़े खाए जाने वाले भोजन को ग्रहण कर लेते हैं, इससे व्यक्ति को भोजन से पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं और कमजोरी आने लगती है. विडंगारिष्ट दवा आंतों में मौजूद कीड़ों को मारती है और भोजन का पोषण भी व्यक्ति को आसानी से मिल पाता है.

(और पढ़ें - फीवरफ्यू के फायदे)

पाचन बेहतर बनाए

स्वस्थ रहने के लिए पाचन का सही रहना जरूरी होता है. पाचन खराब होने पर पेट से जुड़े रोग होने लगते हैं. अगर पाचन खराब है, तो विडंगारिष्ट दवा का सेवन किया जा सकता है. इससे पाचन में सुधार होता है. साथ ही गैसअपच और कब्ज से भी छुटकारा मिल सकता है. विडंगारिष्ट दवा खाने से पाचन हमेशा स्वस्थ रह सकता है.

(और पढ़ें - वाराही कंद के फायदे)

दर्द कम करे

विडंगारिष्ट दवा कई तरह की जड़ी-बूटियों से मिलकर बनी होती है. पेट या शरीर के अन्य हिस्सों में दर्द होने पर विडंगारिष्ट दवा ली जा सकती है. डॉक्टर की सलाह पर विडंगारिष्ट दवा लेने से दर्द से पूरी तरह से छुटकारा मिल सकता है. 

(और पढ़ें - कुचला के फायदे)

सूजन कम करे

विडंगारिष्ट दवा सूजन को कम करने में असरदार साबित हो सकती है. इस दवा में मौजूद तत्व चोट या संक्रमण की वजह से होने वाली सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं. इसके साथ ही विडंगारिष्ट दवा में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो फ्री रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाते हैं. इससे ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस कम हो सकता है और क्षति को रोकने में मदद मिल सकती है.

(और पढ़ें - कैमोमाइल के फायदे)

भूख बढ़ाए

कई लोग दुबले-पतले और कमजोर होते हैं. वे शिकायत करते हैं कि उन्हें भूख नहीं लगती है. ऐसे में तो विडंगारिष्ट दवा का सेवन किया जा सकता है. विडंगारिष्ट दवा खाने से पाचन सही रहता है, बॉडी डिटॉक्स होती है और भूख अच्छी तरह से लगनी शुरू हो जाती है.

(और पढ़ें - लता कस्तूरी के फायदे)

त्वचा की समस्याएं दूर करे

खान-पान और प्रदूषण त्वचा की समस्याओं के मुख्य कारण माने जाते हैं. अगर किसी को भी त्वचा पर कील-मुंहासेदाग-धब्बे या फिर कोई अन्य समस्या है, तो डॉक्टर की सलाह पर विडंगारिष्ट दवा ले सकते हैं. इससे बॉडी डिटॉक्स होती है और त्वचा पर निखार आता है.

(और पढ़ें - बनफशा के फायदे)

पेशाब से जुड़ी समस्याएं ठीक करे

विडंगारिष्ट दवा मूत्र मार्ग में होने वाली रुकावट की समस्या को भी ठीक करने में असरदार हो सकती है. पेशाब में जलन, दर्द या अन्य तरह की समस्या होने पर विडंगारिष्ट दवा ले सकते हैं. इसके अलावा, इस दवा को पेशाब रुक-रुककर आने या बार-बार आने पर भी लिया जा सकता है.

(और पढ़ें - शालपर्णी के फायदे)

एनीमिया का इलाज करे

अधिकतर महिलाओं को एनीमिया की समस्या का सामना करना पड़ता है. एनीमिया की स्थिति में शरीर में खून की कमी हो जाती है. ऐसे में थकान और कमजोरी के लक्षण नजर आने लगते हैं. एनीमिया की समस्या को दूर करने के लिए आप विडंगारिष्ट औषधि ले सकते हैं.

(और पढ़ें - हरिद्रा खंड के फायदे)

आयुर्वेद में विडंगारिष्ट दवा का कोई नुकसान नहीं बताया गया है. फिर भी इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए. अधिक मात्रा में विडंगारिष्ट लेने से सेहत को नुकसान भी पहुंच सकता है.

  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को विडंगारिष्ट दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए.
  • शिशुओं और छोटे बच्चों को भी विडंगारिष्ट बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं देना चाहिए.
  • अगर किसी व्यक्ति को कोई गंभीर बीमारी है, तो विडंगारिष्ट दवा का सेवन डॉक्टर के परामर्श पर ही लें. 

(और पढ़ें - गोदन्ती भस्म के फायदे)

विडंगारिष्ट एक आयुर्वेदिक औषधि है. इसका उपयोग आंतों के कीड़ों को मारने समेत कई समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है. विडंगारिष्ट दवा कई प्रकार की जड़ी-बूटियों से बनी होती है, ऐसे में इसे लाभकारी माना जाता है, लेकिन विडंगारिष्ट दवा का सेवन हमेशा डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए.

(और पढ़ें - जंगली तुलसी के फायदे)

Dr. Priyanka Jha

Dr. Priyanka Jha

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr. Anadi Mishra

Dr. Anadi Mishra

आयुर्वेद
14 वर्षों का अनुभव

Dr. Sarvesh Kumar Tiwari

Dr. Sarvesh Kumar Tiwari

आयुर्वेद
3 वर्षों का अनुभव

Dr. RM Bhardwaj

Dr. RM Bhardwaj

आयुर्वेद
29 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ