गर्भनिरोधक गोलियां कई लाभ प्रदान करती हैं. इन गोलियों को खाने से अनचाही गर्भावस्था को रोकने में मदद मिल सकती है. इतना ही नहीं गर्भनिरोधक दवाइयां मुंहासों से निपटने में भी मदद कर सकती हैं, लेकिन गर्भनिरोधक दवाइयां खाने से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं. इसका सबसे आम साइड इफेक्ट थकान हो सकता है. इसके अलावा, कुछ रिसर्च बताते हैं कि गर्भनिरोधक दवाइयां नींद को भी प्रभावित कर सकती हैं, लेकिन यह अभी स्पष्ट नहीं है. इस संबंध में सटीक जानकारी के लिए अधिक शोध की जरूरत है.

आज इस लेख में आप गर्भनिरोधक गोलियों और थकान के बीच संबंध के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - थकान दूर करने के घरेलू उपाय)

  1. क्या गर्भनिरोधक गोलियों से थकान हो सकती है?
  2. गर्भनिरोधक दवाइयां थकान का कारण कैसे बनती हैं?
  3. थकान को कम करने के लिए क्या करें?
  4. सारांश
क्या गर्भनिरोधक गोलियों से थकान हो सकती है? के डॉक्टर

हां, गर्भनिरोधक दवाइयां खाने से महिला को अधिक थकान महसूस हो सकती है. वहीं, यह स्पष्ट नहीं है कि कितने उपयोगकर्ता गर्भनिरोधक गोलियों खाने के बाद थकान महसूस कर सकते हैं. अभी यह भी स्पष्ट नहीं है कि उपयोगकर्ता किस स्तर की थकान का अनुभव कर सकते हैं. इसका मतलब यह है कि उपयोगकर्ता गर्भनिरोधक गोलियां खाने के बाद सामान्य थकान महसूस करता है या फिर गंभीर थकान का अनुभव करता है. थकान के स्तर के बारे में जानने के लिए अधिक अध्ययनों की जरूरत है.

आपका बता दें कि हार्मोनल गर्भनिरोधक गोलियां लेते समय व्यक्ति थका हुआ महसूस कर सकता है. 2020 के एक अध्ययन के अनुसार, गर्भनिरोधक दवाइयां लेने से अनिद्रा की समस्या हो सकती है. जब नींद पूरी नहीं होती है, तो व्यक्ति थका हुआ महसूस कर सकता है. गर्भनिरोधक दवाइयां लेने से व्यक्ति को रात के मुकाबले सुबह अधिक नींद आ सकती है. आलस और थकान गर्भनिरोधक दवाइयां के सबसे आम नुकसान हो सकते हैं.

इसके विपरीत कुछ लोग गर्भनिरोधक गोलियां लेने के बाद बेहतर नींद का अनुभव करते हैं. साथ ही वे थकान के बजाय बेहतर ऊर्जा महसूस करते हैं. इसलिए, अभी गर्भनिरोधक दवाइयों और थकान के बीच के संबंध के बारे में जानने के लिए अधिक शोध की जरूरत है.

(और पढ़ें - हमेशा थकान महसूस होने का इलाज)

भले ही हार्मोनल गर्भनिरोधक गोलियां, नींद और थकान को कैसे प्रभावित करती हैं, इस पर परस्पर विरोधी शोध हैं, लेकिन अधिकतर रिसर्च बताती हैं कि गर्भनिरोधक दवाइयां थकान का कारण बन सकती हैं. दरअसल, गर्भनिरोधक दवाइयां महिला के सेक्स हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन को प्रभावित कर सकती हैं. जब ये हार्मोन प्रभावित होते हैं, तो नींद पर असर पड़ सकता है, क्योंकि प्रोजेस्टेरोन को विशेष रूप से नींद लाने वाले हार्मोन के रूप में भी जाना जाता है. जब कोई महिला गर्भनिरोधक दवाइयां खाती हैं, तो नींद और जागने का चक्र पूरी तरह से गड़बड़ा सकता है.

इसके अलावा, गर्भनिरोधक दवाइयां तनावचिंता या डिप्रेशन से भी जुड़े होती हैं. जब कोई व्यक्ति गोलियां लेने के बाद तनाव महसूस करता है, तो उसे थकान भी लग सकती है. तनाव और नींद की कमी व्यक्ति में गंभीर थकान पैदा कर सकते हैं.

गर्भनिरोधक दवाइयां टेस्टोस्टेरोन की मात्रा को भी कम कर सकती हैं. ऐसे में जब टेस्टोस्टेरोन कम होता है, तो व्यक्ति को थकान महसूस हो सकती है. इतना ही नहीं गर्भनिरोधक दवाइयां लेने से शरीर में विटामिन-सीविटामिन-बी1विटामिन-बी2विटामिन-बी3विटामिन-बी6, फोलेट, मैग्नीशियम व जिंक का स्तर भी कम होने लगता है. जब शरीर में पोषक तत्व कम होते हैं, तो थकान महसूस हो सकती है. 

(और पढ़ें - थकान दूर करने के लिए क्या खाएं)

गर्भनिरोधक दवाइयां लेने के बाद कुछ महिलाओं को थकान महसूस होती है, तो कुछ को ऊर्जा का अनुभव होता है. अगर आप दवाइयां लेने के बाद लंबे समय तक थकान का अनुभव कर रही हैं, तो इस स्थिति में थकान को दूर करना जरूरी हो जाता है. इसके लिए आप निम्न उपाय कर सकती हैं -

  • आप बैलेंस डाइट लें. साथ ही अधिक तरल पदार्थ लें, ताकि शरीर हाइड्रेट रहे.
  • जूस और नारियल पानी का सेवन करें.
  • पर्याप्त नींद लें और समय पर सोएं व जागें.
  • अपनी डाइट में विटामिन-बी5, विटामिन-बी6, विटामिन-बी12, विटामिन-सी, मैग्नीशियम और जिंक सप्लीमेंट्स शामिल करें.

(और पढ़ें - कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय)

थकान को दूर करने का एक और तरीका Sprowt Vitamin-B12 भी है, जो पूरी तरह से प्राकृतिक जड़ी-बूटियों से निर्मित है. इसे लेने से किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है. इसे खरीदने के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें -

वैसे तो गर्भनिरोधक दवाइयां अनचाही गर्भावस्था को खत्म कर देती हैं, लेकिन इन गोलियों को लेने के बाद अनिद्रा, तनाव और थकान जैसे दुष्प्रभाव झेलने पड़ सकते हैं. वहीं, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि गर्भनिरोधक दवाइयां लेने वाले कितने लोग इन दुष्प्रभावों का सामना करते हैं. अगर कोई महिला गर्भनिरोधक दवा लेने के बाद बैलेंस डाइट लेती है, तो थकान को दूर करने में मदद मिल सकती है. वहीं, अगर किसी को गंभीर थकान महसूस हो, तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए.

(और पढ़ें - शारीरिक कमजोरी में क्या खाएं)

Dr. Swati Rai

Dr. Swati Rai

प्रसूति एवं स्त्री रोग
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Bhagyalaxmi

Dr. Bhagyalaxmi

प्रसूति एवं स्त्री रोग
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Hrishikesh D Pai

Dr. Hrishikesh D Pai

प्रसूति एवं स्त्री रोग
39 वर्षों का अनुभव

Dr. Archana Sinha

Dr. Archana Sinha

प्रसूति एवं स्त्री रोग
15 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ