सूरज की रोशनी स्किन को बुरी तरह से नुकसान पहुंचा सकती है. यही वजह है कि लोग अपनी स्किन को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं, क्योंकि सनस्क्रीन से चेहरे को एक सुरक्षित लेयर मिलती है. त्वचा के साथ-साथ सूरज की रोशनी बालों को भी डैमेज कर सकती है. सूरज की यूवीए और यूवीबी किरणें बालों के बाहरी आवरण यानी क्यूटिकल्स को बुरी तरह से नुकसान पहुंचा सकती है. इसलिए, सूरज की रोशनी से सिर्फ चेहरे को बचाना जरूरी नहीं होता है, बल्कि बालों की सुरक्षा करना भी जरूरी होता है.

आज इस लेख में आप बालों को सूरज से डैमेज होने से बचाने के तरीकों के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - बालों की देखभाल के लिए टिप्स)

  1. बालों को सूरज से होने वाले नुकसान
  2. बालों को सूरज से कैसे बचाएं?
  3. सारांश
बालों को सूरज से क्षतिग्रस्त होने से बचाने के तरीके के डॉक्टर

सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से बालों को निम्न प्रकार के नुकसान हो सकते हैं -

  • बालों का रंग व टाइप कैसा भी हो, सूरज की रोशनी सभी प्रकार के बालों को नुकसान पहुंचा सकती है.
  • अगर आपके बाल पतले हैं, तो बाल अधिक नाजुक होते हैं. इसलिए, पतले बालों को सूरज की रोशनी से नुकसान होने की आशंका अधिक होती है.
  • धूप की वजह से क्यूटिकल्स को नुकसान पहुंचता है. इससे बाल पतले होकर झड़ सकते हैं.
  • सूरज की रोशनी बालों के पतलेपन और घुंघरालेपन का कारण बन सकती है.
  • सूरज की रोशनी की वजह से बाल डैमेज हो जाते हैं. इसकी वजह से बाल रूखे और बेजान हो सकते हैं. 
  • अगर आपने बालों को कर्ल या कलर करवाया है, तो इन बालों को धूप से अधिक नुकसान पहुंच सकता है. इस स्थिति में बाल सूख सकते हैं.
  • सूरज की किरणें बालों पर ब्लीच की तरह काम करती हैं. इससे बालों के क्यूटिकल्स और प्रोटीन को भी नुकसान पहुंचाता है. इस स्थिति में बालों को केराटिन की जरूरत होती है.
  • जब धूप की वजह से बालों का प्रोटीन कम होने लगता है, तो बाल झड़ने शुरू हो सकते हैं.

(और पढ़ें - रूखे बालों की देखभाल)

जिस तरह आप सूरज में निकलने से पहले अपनी स्किन को सुरक्षित करने की कोशिश करते हैं. उसी तरह बालों को भी सूरज से बचाना जरूरी होता है. जब आप बालों को धूप से बचाते हैं, तो इससे बाल रूखे व बेजान होकर टूटने लगते हैं. बालों को सूरज की रोशनी से निम्न प्रकार से बचाया जा सकता है -

बालों को स्कार्फ से लपेट लें

धूप में निकलने से पहले आपको अपने बालों को ढकना जरूरी चाहिए. बालों को ढकने से सूरज की हानिकारक यूवीए और यूवीबी किरणें बालों के सीधे संपर्क में नहीं आती है. इससे बाल सूरज से काफी हद तक सुरक्षित रहते हैं. इसके लिए आप एक स्कार्फ लें. इसे अपने बालों पर पूरी तरह से लपेट लें. आप चाहें तो बालों को ढकने के लिए कैप व छतरी आदि का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

(और पढ़ें - तैलीय बालों की देखभाल)

अधिक धूप में बाहर न जाएं

अगर बाहर तेज धूप है, तो इससे आपको बालों को अधिक नुकसान पहुंचने की आशंका होती है. इसलिए, दोपहर के समय (जब तेज धूप हो) बाहर निकलने से बचना चाहिए. अगर किसी वजह से बाहर जाना भी पड़े, तो बालों को बिल्कुल सुरक्षित करके जाएं. बालों को कभी भी धूप के सीधे संपर्क में आने से बचाना चाहिए. 

(और पढ़ें - सर्दियों में बालों की देखभाल)

एसपीएफ प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करें

जिस तरह चेहरे को धूप से बचाने के लिए एसपीएफ लगाया जाता है. उसी तरह बालों को बचाने के लिए भी एसपीएफ युक्त प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना चाहिए. आप यूवीए और यूवीबी युक्त हेयर केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं.

(और पढ़ें - डैमेज बालों का इलाज)

कंडीशनर का उपयोग करें

बालों को मुलायम और चमकदार बनाने के लिए बालों पर कंडीशनर का उपयोग भी जरूर करना चाहिए. कंडीशनर धूप की वजह से बालों को हुए नुकसान को रिपेयर करने में मदद कर सकता है. जब सूरज की किरणों की वजह से बाल रूखे और बेजान हो जाते हैं, तो इस स्थिति में कंडीशनर का उपयोग किया जा सकता है. कंडीशनर बालों के रूखेपन को कम करने में मदद कर सकता है.

(और पढ़ें - क्षतिग्रस्त बालों के लिए घरेलू उपाय)

सूरज की किरणें त्वचा के साथ ही बालों को भी नुकसान पहुंच सकती हैं. इसलिए, जिस तरह आप अपनी त्वचा को सूरज से सुरक्षित रखते हैं. उसी तरह बालों को भी सूरज से सुरक्षित रखना जरूरी होता है. इसके लिए आप तेज धूप में जाने से बचें. अगर धूप में निकल भी रहे हैं, तो बालों को स्कार्फ आदि से लपेट लें. बालों पर एसपीएफ युक्त हेयर केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करें.

(और पढ़ें - बालों को मुलायम करने के उपाय)

Dr. Merwin Polycarp

Dr. Merwin Polycarp

डर्माटोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें