कैंसर के मरीजों को अपनी सेहत, त्वचा और बालों का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है, क्योंकि कैंसर ट्रीटमेंट से स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा व बाल भी प्रभावित होते हैं. खासकर, कैंसर के मरीजों को बाल झड़ने की समस्या शुरू हो सकती है. ऐसा कीमोथेरेपी और रेडिएशन थेरेपी के कारण होता है. कीमोथेरेपी और रेडिएशन थेरेपी तेजी से बढ़ने वाले कैंसर सेल्स व अन्य कोशिकाओं को नष्ट कर देते हैं. ऐसे में हेयर फॉलिकल्स सेल्स भी नष्ट हो जाते हैं और बालों का झड़ना शुरू हो जाता है.

आज इस लेख में आप कैंसर के मरीजों के लिए हेयर केयर टिप्स के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - रूखे बालों की देखभाल)

  1. कैंसर के इलाज से पहले हेयर केयर टिप्स
  2. कैंसर के इलाज के दौरान हेयर केयर टिप्स
  3. कैंसर के इलाज के बाद हेयर केयर टिप्स
  4. सारांश
कैंसर के मरीज के लिए हेयर केयर टिप्स के डॉक्टर

अगर जांच के बाद किसी में कैंसर की पुष्टि हुई है, तो डॉक्टर कीमोथेरेपी या रेडिएशन लेने की सलाह दे सकते हैं. ऐसे में कैंसर के इलाज से पहले ही बालों की केयर करना शुरू कर देना चाहिए -

बालों को ब्लीच न करें

कैंसर का इलाज करवाने से पहले बालों की खास देखभाल जरूर करनी चाहिए. इसके तहत बालों को ब्लीच व पर्म आदि करने से बचें, क्योंकि इससे बाल कमजोर हो सकते हैं और इलाज के दौरान तेजी से झड़ सकते हैं. साथ ही बालों को नैचुरल तरीके से सुखाएं. इसके लिए हेयर ड्रायर आदि का इस्तेमाल न करें. हेयर आयरन का उपयोग करने से भी बचना चाहिए.

(और पढ़ें - तैलीय बालों की देखभाल)

बालों को छोटा रखें

कैंसर के मरीजों को अपने बाल छोटे रखने चाहिए, क्योंकि छोटे बालों को कम देखभाल की जरूरत होती है. साथ ही बालों को संभालने के लिए अधिक मेहनत भी नहीं करनी पड़ती है. इसलिए, अगर किसी की कीमोथेरेपी या रेडिएशन थेरेपी होने वाली है, तो बालों को कट करवा लें, क्योंकि लंबे बालों में खुजली और जलन महसूस हो सकती है. 

(और पढ़ें - मानसून में कैसे करें बालों की देखभाल)

बालों को ढककर रखें

कैंसर का इलाज करवाने से पहले बालों को हमेशा ढककर ही रखना चाहिए. इसके लिए आप अपने बालों को स्कार्फ, कैप व टोपी आदि से कवर कर सकते हैं. इससे बाल सूरज की किरणों व धूल-मिट्टी से सुरक्षित रह सकते हैं.

(और पढ़ें - डैमेज बालों का इलाज)

जिस तरह कैंसर का इलाज करने से पहले बालों को पूरी देखभाल की जरूरत होती है. उसी तरह कैंसर के इलाज के दौरान भी बालों की केयर करनी जरूरी होती है -

हेयर वॉश जरूर करें

कैंसर के इलाज के दौरान बालों को समय-समय पर जरूर धोते रहना चाहिए. इससे बालों पर गंदगी जमा नहीं रहेगी. स्कैल्प को संक्रमण से बचाना आसान होगा. साथ ही बाल मुलायम भी रहेंगे. बालों के लिए मुलायम ब्रश का इस्तेमाल करना चाहिए. बालों को धोने के लिए माइल्ड शैंपू का इस्तेमाल करें.

(और पढ़ें - बालों को चमकदार बनाने के उपाय)

बालों को शेव करें

अगर कैंसर के इलाज के दौरान बालों की सही तरीके से केयर नहीं कर पा रहे हैं, तो बालों को शेव भी करवा सकते हैं. कुछ अध्ययनों के अनुसार, कैंसर के इलाज के दौरान बाल झड़ते हैं, तो सिर में खुजली और जलन महसूस होने लगती है. ऐसे में अगर सिर के बाल पहले से शेव होंगे, तो जलन कम महसूस होगी. 

(और पढ़ें - तैलीय बालों के लिए घरेलू उपाय)

सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें

बालों और स्कैल्प को धूप, सूरज व ठंडी हवा के संपर्क में अधिक रखने से भी बचना चाहिए. इसके लिए सनस्क्रीन का इस्तेमाल कर सकते हैं. स्कैल्प को सुरक्षित रखने के लिए 30 या उससे अधिक एसपीएफ वाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल करना चाहिए. धूप और ठंडी हवा से सिर को बचाने के लिए स्कार्फ का भी सहारा ले सकते हैं.

(और पढ़ें - दोमुंहे बालों के लिए देसी नुस्खे)

स्कैल्प कूलिंग कैप पहनें

कैंसर के इलाज के दौरान स्कैल्प कूलिंग कैप्स पहनना भी अच्छा विकल्प हो सकता है. यह कैप सिर पर रक्त के प्रवाह को धीमा करती है. इससे बालों के गिरने की आशंका कम हो जाती है. 

(और पढ़ें - बालों को सूरज से क्षतिग्रस्त होने से बचाने के तरीके)

कैंसर के इलाज के दौरान बाल पूरी तरह से झड़ जाते हैं. कई लोगों को इसकी वजह से गंजेपन का शिकार भी होना पड़ता है, लेकिन कैंसर का इलाज समाप्त होने के कुछ समय बाद बाल दोबारा से उगने शुरू हो जाते हैं. ऐसे में बालों को सबसे अधिक देखभाल की जरूरत होती है, क्योंकि कैंसर का इलाज खत्म होने के बाद जब बाल दोबारा उगते हैं, तो इनमें बदलाव देखने को मिलता है. बाल फ्रिजी व कर्ल उग सकते हैं. कैंसर इलाज समाप्त होने के बाद बालों की देखभाल इस तरह से करें -

बालों को कर्ल न करें

कैंसर का इलाज समाप्त होने के बाद अगर बाल दोबारा उग गए हैं, तो बालों को कर्ल करने से बचें. बालों पर स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स व हीटिंग उपकरणों का इस्तेमाल भी न करें, क्योंकि इस दौरान बाल अधिक सेंसिटिव होते हैं.

(और पढ़ें - प्याज का रस बालों के लिए)

बालों के बेहतर विकास के लिए रोज Sprowt Biotin का सेवन किया जा सकता है. ध्यान रहे कि कैंसर से ग्रस्त मरीज इसका सेवन डॉक्टर से पूछकर ही करें -

हेयर स्टाइलिंग टूल्स से दूरी

कैंसर का इलाज समाप्त होने के बाद हेयर स्टाइलिंग टूल का इस्तेमाल भी नहीं करना चाहिए, क्योंकि इनकी हीट से बाल कमजोर पड़ सकते हैं. ऐसे में बालों को नुकसान होने से बचाने के लिए हीटिंग से भी बचें.

(और पढ़ें - ऑयली बालों के लिए हेयर सीरम)

कंडीशनर का उपयोग

कैंसर का इलाज समाप्त होने के बाद जब बाल दोबारा उगते हैं, तो उनके रंग और बनावट में बदलाव देखने को मिल सकता है. बाल भूरे, फ्रिजी और कर्ल नजर आ सकते हैं. ऐसे में बालों को मुलायम बनाने के लिए कंडीशनर का इस्तेमाल करना चाहिए. साथ ही अपने स्कैल्प को भी मॉइश्चराइज जरूर करें. इसके लिए माइल्ड कंडीशनर का इस्तेमाल करें.

(और पढ़ें - बालों में तेल लगाने के फायदे)

अरंडी का तेल

अगर बालों की ग्रोथ धीमी हो रही है, तो अरंडी का तेल इस्तेमाल किया जा सकता है. अरंडी के तेल को स्कैल्प, पलकों और भौहों पर लगाने से बालों की ग्रोथ तेज हो सकती है.

(और पढ़ें - बालों के लिए आंवला, रीठा और शिकाकाई)

हेल्दी डाइट लें

जिस तरह सेहत के लिए अच्छी डाइट लेना जरूरी होता है. उसी तरह बालों के लिए हेल्दी डाइट लेना जरूरी होता है. कैंसर के इलाज के बाद बालों को मजबूती प्रदान करने के लिए अच्छी डाइट लें. इसके लिए आप अपनी डाइट में प्रोटीन आदि को जरूरी शामिल करें.

(और पढ़ें - दो मुंहे बालों के लिए क्या करें)

कैंसर के अधिकतर मरीजों को बालों के झड़ने की प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है, लेकिन कैंसर की वजह से बाल नहीं झड़ते हैं, बल्कि कैंसर का इलाज बालों के झड़ने का कारण बनता है. ऐसे में अगर किसी में कैंसर की पुष्टि हो गई है, तो बालों की देखभाल करना शुरू कर दें. कैंसर के मरीजों को इलाज से पहले, दौरान और बाद में बालों की पूरी देखभाल की जरूरत होती है. 

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय)

Dr. Merwin Polycarp

Dr. Merwin Polycarp

डर्माटोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें