बढ़ती उम्र का असर पूरी त्वचा पर नजर आता है. समय के साथ-साथ त्वचा में कोलेजन और इलास्टिसिटी कम होने लगती है, जिससे त्वचा में कसाव कम होने लगता है. जब गर्दन पर ऐसे ही लक्षण नजर आते हैं, तो इस अवस्था को टर्की नेक कहा जाता है. संभव है कि कई लोगों ने इससे पहले टर्की नेक के बारे में न सुना हो, लेकिन यह बढ़ती उम्र की निशानी हो सकता है.

आज इस लेख में आप टर्की नेक के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए क्या खाएं)

  1. टर्की नेक क्या है?
  2. क्या टर्की नेक का इलाज संभव है?
  3. सारांश
टर्की नेक क्या है व इसका इलाज के डॉक्टर

बढ़ती उम्र के कारण झुर्रीदार गर्दन या गर्दन की ढीली नजर आने वाली त्वचा को टर्की नेक कहा जाता है. यह तब होता है जब गर्दन की मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं और त्वचा अपनी लोच, या खिंचाव की क्षमता खो देती है. देखा जाए, तो यह उम्र के कारण गर्दन की त्वचा में होने वाले बदलाव की स्थिति है.

(और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियां हटाने के घरेलू उपाय)

ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या टर्की नेक की स्थिति से बचा जा सकता है या इसका इलाज संभव है या नहीं, तो यहां हम बता दें कि कि यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है. कुछ बातों का ध्यान रखकर इस स्थिति को कम किया जा सकता है. ये उपाय कुछ इस प्रकार हैं -

व्यायाम करें

लगातार व्यायाम, खासतौर से फेशियल व्यायाम करने से यह समस्या कुछ हद तक कम हो सकती है. दरअसल, एक्सरसाइज करने से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है. इससे त्वचा में कसावट आ सकती है. टर्की नेक के लिए सुझाए गए व्यायाम एक्सपर्ट की देखरेख में करने चाहिए. इसके तहत फॉरहेड पुश व नेक लिफ्ट आदि एक्सरसाइज की जा सकती है.

(और पढ़ें - आंखों के नीचे की झुर्रियों के लिए घरेलू उपाय)

कॉस्मेटिक्स का उपयोग

कुछ खास तरह की एंटी एजिंग क्रीम को इस्तेमाल करने से इस स्थिति से राहत मिल सकती है. बेहतर होगा कि इस बारे में स्किन स्पेशलिस्ट या किसी एक्सपर्ट से राय ली जाए. कुछ शोध बताते हैं कि इस तरह की क्रीम हाइपरपिगमेंटेशन के प्रभाव को कम करते हुए त्वचा को मजबूत और चिकना करके टर्की नेक की स्थिति में कुछ सुधार कर सकती हैं.

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए योगासन)

बोटोक्स

बोटोक्स सर्जरी नहीं है, लेकिन यह विशेषज्ञों द्वारा किया जाने वाला एक लंबे समय तक चलने वाला ट्रीटमेंट है. इसमें त्वचा को आकर्षक दिखाने के लिए बार-बार इंजेक्शन लेने की आवश्यकता पड़ सकती है. इसका असर 3 से 4 महीने तक रह सकता है.

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए क्रीम)

हयो नेक लिफ्ट

यह एक तरह का सर्जिकल प्रोसेस है, जिसके द्वारा गर्दन की त्वचा में कसावट आ सकती है. यह त्वचा को आकर्षक दिखाने के लिए एक्सपर्ट द्वारा किया गया प्रोसेस है.

(और पढ़ें - इन गलतियों से आती है उम्र से पहले झुर्रियां)

एमएसटी ऑपरेशन

यह सर्जिकल प्रक्रिया है. इसके परिणामस्वरूप गर्दन की त्वचा में कसावट आ सकती है और त्वचा जवां लग सकती है. वहीं, बाद में सर्जरी वाले भगा में थोड़े-बहुत निशान नजर आ सकते हैं. 

(और पढ़ें - झुर्रियां हटाने के लिए इनका करें इस्तेमाल)

स्किन टाइटनिंग लेजर

आजकल लेजर ट्रीटमेंट भी काफी चलन में है. लेजर को नॉन-इनवेसिव ट्रीटमेंट माना गया है, जो हल्के से मध्यम परिणाम देता है. बेहतर परिणाम के लिए लगभग 4 से 6 महीने तक इस प्रोसेस को अपनाने की आवश्यकता होती है.

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए फेस पैक)

जेड-प्लास्टी

इसे एंटीरियर सर्विकोप्लास्टी भी कहा जाता है. यह सर्जरी 1970 के दशक में शुरू की गई थी. इसमें गर्दन की अतिरिक्त त्वचा का हटाना शामिल है. यह तकनीक तेज और प्रभावी है, लेकिन इससे गर्दन के पीछे निशान रह सकते हैं.

(और पढ़ें - घर पर एंटी-एजिंग क्रीम बनाने का तरीका)

टर्की नेक और कुछ नहीं, बल्कि बढ़ती उम्र के कारण गर्दन पर पड़ने वाला एक प्रकार का प्रभाव है. यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, जिसे कुछ उपायों से कम किया जा सकता है. इसके लिए एक्सरसाइज की जा सकती है, जो सबसे सुरक्षित तरीका है. इसके अलावा, कॉस्मेटिक प्रोडक्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर इससे त्वचा में सुधार न हो, तो स्किन टाइटनिंग लेजर व जेड-प्लास्टी जैसे सर्जिकल उपचार भी किए जा सकते हैं, लेकिन इन उपचार से फायदा होने के साथ-साथ नुकसान भी हो सकता है.

(और पढ़ें - एंटी एजिंग के घरेलू उपाय)

Dr. Merwin Polycarp

Dr. Merwin Polycarp

डर्माटोलॉजी
15 वर्षों का अनुभव

Dr. Raju Singh

Dr. Raju Singh

डर्माटोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Afroz Alam

Dr. Afroz Alam

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranjal Praveen

Dr. Pranjal Praveen

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें